20 April, 2024

Chardham Yatra 2024: पुश्तों और बोल्डरों के बीच आगे बढ़ सकती है यात्रा, हाईवे पर उत्पन्न हो रही है चुनौती

Char Dham Yatra 2024: इस साल, चारधाम की यात्रा टूटे हुए पुश्तों और हाईवे के बीच में पड़े बोल्डरों से होकर गुजरेगी। शासन द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 58/7 पर पुश्तों के लिए बजट उपलब्ध नहीं कराया जा रहा है। इस परिस्थिति में, चारधाम की यात्रा करने वाले यात्रियों को संवेदनशील हो गए हाईवे पर हिचकोले खाकर यात्रा करनी पड़ेगी।

Amazon deal of the day.

12 मई को बदरीनाथ के कपाट खुल रहे हैं। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ब्रह्मपुरी से देवप्रयाग तक भ्वींट, बछेलीखाल, सौड़पानी, महादेवचट्टी, सिंगटाली, ब्यासी, शिवपुरी, गूलर, ब्रह्मपुरी में कई स्थानों पर पुश्ते टूटे हैं। हाईवे पर पुश्ते टूटने के कारण हाईवे डबल लेन की जगह सिंगल लेन का रह गया है।

राष्ट्रीय राजमार्ग खंड की ओर से इन संवेदनशील स्थानों पर किसी प्रकार के सुरक्षात्मक उपाय भी नहीं किए गए। ऐसे में रात को आकस्मिक सेवा के वाहन चालकों को परेशानी होती है। देवप्रयाग से ऋषिकेश तक करीब पांच से अधिक स्थानों पर हाईवे पर बड़े-बड़े बोल्डर गिरे पड़े हैं। लेकिन इन बोल्डर को तोड़कर हाईवे से हटाने की बजाय एनएच श्रीनगर गढ़वाल ने इन्हें नुमाइश के लिए हाईवे पर रखा है।

हाईवे का पुश्ता टूटने और ऊपर से पहाड़ी से मलबा गिरने के कारण बछेलीखाल (डोबरी) और ब्यासी बाजार के पास हाईवे सिंगल लेन का हो गया है। बछेलीखाल में तो एक ट्रक भी खतरनाक मार्ग के कारण खाई में गिर चुका है। इन दोनों स्थानों पर सिंगल लेन में चलने के कारण सुबह से शाम तक वाहनों की लंबी-लंबी लाइनें लग रही हैं। उक्त स्थानों पर हाईवे के उबड़ खाबड़ होने के कारण भारी वाहनों के कमानी टूटने और दुर्घटनाग्रस्त होने का भय बना रहता है।

एनएच श्रीनगर गढ़वाल की ओर से बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर पुश्तों निर्माण के लिए 12 करोड़ रुपये का इस्टीमेट बनाकर शासन को भेजा गया है। बजट आवंटन के बाद पुश्तों का निर्माण कार्य शुरु किया जाएगा। बोल्डर भी हाइवे से हटाए जाएंगे।

खबर शेयर करें: