12 December, 2023
जान पर खेल कर नदी पार करने को मजबूर

जान हथेली पर रखकर ट्यूब के सारे उफनाती लधीया नदी को पार करने को मजबूर ग्रामीण

खबर शेयर करें:

इस क्षेत्र में कई वर्षो से सुविधाओं का घोर अभाव है। क्षेत्र के लिए ना तो सड़क सुविधा ना ही चिकित्सा की सुविधा ग्रामीण परेशान


खबर शेयर करें:
खबर शेयर करें:

Champawat News: दूरस्थ सीमा क्षेत्र से लगे गांव के ग्रामीण लधीया नदी में झूला पुल व गरारी ना होने से जान हथेली में रखकर ट्यूब के सहारे उफनती लधीया नदी को पार करने को मजबूर है

Amazon deal of the day.

नदी पार कर रहे ग्रामीणों का कहना है। इस क्षेत्र में सुविधाओं का घोर अभाव है। ना क्षेत्र के लिए सड़क सुविधा है ना चिकित्सा की सुविधा ग्रामीण बरसों से लधीया नदी में आवाजाही के लिए झूला पुल या गरारी की मांग कर रहे हैं। पर बरसों बाद भी समस्या जस की तस बनी हुई है। कई सरकारें आई और गई कई अधिकारी आए और गए पर पर किसी ने समस्या का संज्ञान नहीं लिया।

ग्रामीणों ने कहा बरसात के सीजन में उनकी दिक्कतें और ज्यादा बढ़ जाती हैं। रोजमर्रा के जरूरी कामों के लिए या राशन इत्यादि के लिए ग्रामीणों को टनकपुर व चंपावत जाना पड़ता है। और मजबूरी में क्षेत्र के ग्रामीणों को इसी प्रकार ट्यूब के सारे उफनती लधीया नदी को जान हथेली पर रखकर पार करना पड़ता है। जिसमें कई ग्रामीणों के साथ दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं। तथा बीमार होने की स्थिति में भी ग्रामीणों को इसी तरह नदी पार करवाई जाती है। ग्रामीणों ने कहा मजबूरी में उन्हें राशन आदि लाने के लिए भी अपनी जान खतरे में डालनी पड़ती है।

ग्रामीणों ने कहा अब यह क्षेत्र मुख्यमंत्री की विधानसभा में आता है। उन्हें पूरा विश्वास है मुख्यमंत्री धामी ग्रामीणों की इन समस्याओं का गंभीरता से संज्ञान लेंगे। और ग्रामीणों की समस्या का जल्द समाधान करेंगे। ताकि उनका आदर्श जिला चंपावत बनाने का सपना पूरा हो सके। वही मामला चंपावत के प्रभारी डीएम हेमंत कुमार वर्मा के संज्ञान में आया जिसका उनके द्वारा तत्काल संज्ञान लिया गया है। प्रभारी डीएम वर्मा ने कहा नदी में इस प्रकार से ग्रामीणों की आवाजाही काफी खतरनाक है। जिस पर तत्काल रोक लगाने के लिए एसडीएम पूर्णागिरि को आदेश दे दिए गए हैं।

साथ ही एक समिति का गठन किया गया है। तथा समिति को क्षेत्र का जल्द निरीक्षण कर 3 दिन के भीतर जांच रिपोर्ट सौंपने के निर्देश दिए गए हैं। तथा क्षेत्र के ग्रामीणों की राशन ,चिकित्सा की व्यवस्था करने के लिए निर्देश दिए गए हैं। डीएम वर्मा ने कहा नदी में पुल बनाने के लिए पीडब्ल्यूडी व पीआईयू को निर्देशित किया गया है। अगर उनका कोई प्रस्ताव शासन को गया है तो उस पर तेजी से कार्रवाई करें अन्यथा जल्द प्रस्ताव बनाकर भेजें वीडियो में साफ देखा जा रहा है कुछ युवक ट्यूब के सहारे जान हथेली में रखकर लोगों को उफनती नदी को पार करवा रहे हैं।

जिनमें महिलाएं भी शामिल है। और कई ग्रामीण नदी पार करने के लिए लाइन में खड़े नजर आ रहे हैं। जिनके साथ कभी भी भीषण दुर्घटना हो सकती है। कुल मिलाकर प्रशासन व सरकार ने इन ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए समस्या का जल्द समाधान करना चाहिए। क्योंकि सुविधाओं के अभाव में यह ग्रामीण काफी कठिनाई का जीवन बिताते हैं। मुख्यमंत्री धामी ने इस बात का तत्काल संज्ञान लेना चाहिए। क्योंकि ग्रामीणों को अपने विधायक व प्रदेश के सीएम पुष्कर सिंह धामी पर काफी विश्वास है। कि वे उनकी समस्याओं का संज्ञान लेंगे। और समाधान करेंगे।

रिपोर्टर – लक्ष्मण बिष्ट(लोहाघाट)


खबर शेयर करें: