कई बार शिकायत के बाद भी अधिकारियों के कानों में जूं तक नही रेंगी

सेना के सहयोग से यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर बना, आशाराम जगुडी़ शहीद स्मारक

पत्र मिलने के कुछ घण्टे बाद 35वी वाहिनी के 8 जवानों का एक सैन्यदल दीवार की मरमत को भेजा

खबर शेयर करें:

Uttarkashi News: पॉल गांव में itbp की 35वी बटालियन के जवानों का ग्रामवासियों द्वारा फूल मालाओंके साथ विदाई दी

Amazon deal of the day.

जनपद उत्तरकाशी NH 134 यमुनोत्री मार्ग पर पौल गांव में स्थित शहीद आशाराम जगूड़ी का स्मारक की दीवार ऑल वेदर परियोजना के तहत हुए सड़क निर्माण के दौरान उपयुर्क्त परियोजना के ज़िम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण क्षतिग्रस्त हो गयी थी।

साथ ही स्मारक के सामने मिट्टी का ढेर लगाकर स्मारक की गरिमा को ठेस पहुचाने का काम किया जा रहा था। आश्चर्य की बात है कि परिजनों की कई बार शिकायत के बाद भी NH134 अधिकारियों के कानों में जूं तक नही रेंगी। वही जनप्रतिनिधियों के हर महीने आश्वासन के कारण भी परिजन परेशान थे। वहीं शहीद के पुत्र धनीराम जगूड़ी के द्वारा itbp को पत्र लिखा गया था।

सेना के जवानों ने तय सीमा पर दीवार का काम पूरा किया व साथ ही स्मारक का सौंदर्यकरण भी किया। जिसके लिए समस्त क्षेत्र की जनता ने फूलमालाओं के साथ जवानों को विदाई दी।

रिपोर्टर – दीपक नौटियाल (उत्तरकाशी)

खबर शेयर करें: